Class +2 Economics Chapter 5: Elasticity of Demand माँग की लोच

Class +2 Economics Chapter 5: Elasticity of Demand (माँग की लोच) Short Questions Answers

Class +2 Economics

क्यू. मांग की लोच से क्या अभिप्राय है?

उत्तर:- किसी वस्तु की कीमत में होने वाले परिवर्तन के फलस्वरूप उस वस्तु की माँगी गई मात्रा में होने वाले परिवर्तन की माप को ही माँग की लोच कहा जाता है।

क्यू. मांग की कीमत लोच से क्या अभिप्राय है?

उत्तर:- मांग की कीमत लोच :- किसी वास्तु की किमत में होने वाले प्रतिशत परिवर्तन तथा उस वस्तु की मांग में होने वाले प्रतिशत परिवर्तन का अनुपात है.

क्यू. पूर्णतया लोचदार मांग से क्या अभिप्राय है?

उत्तर:- पूर्णतया लोचदार मांग का अर्थ है कि कीमत में सूक्ष्म से परिवर्तन के फलस्वरूप मांग की मात्रा में अनन्त परिवर्तन का होना.

क्यू. पूर्णतया बेलोचदार मांग का क्या अर्थ है?

उत्तर:- पूर्णतया बेलोचदार मांग वह होती है जब कीमत में परिवर्तन का मांग की मात्रा में कोई प्रभाव नहीं पड़ता है.

क्यू. मांग की लोच इकाई कब होती है?

उत्तर:- माँग की लोच इकाई तब कहलाती है जब माँग की मात्रा में प्रतिशत परिवर्तन कीमत में प्रतिशत परिवर्तन कीमत में प्रतिशत परिवर्तन के बरावर होता है.

क्यू. माँग लोचदार कब होती है?

उत्तर:- माँग लोचदार तब कहलाती है जब माँग की मात्र में प्रतिशत परिवर्तन कीमत में प्रतिशत परिवतर्न से अधिक होता है.

क्यू. माँग बेलोचदार कब होती है?

उत्तर:- जब माँग की मात्रा में प्रतिशत परिवर्तन कीमत में प्रतिशत परिवर्तन से कम होता है तबेलोचदार माँग कहलाती है.

क्यू. गिफ्फन पदार्थो की आय लोच कैसी होती है?

उत्तर:- ऋणात्मक.

क्यू. जिन वस्तुओं की हमे आदत पड़ जाती है उनकी माँग की लोच कैसी होती है?

उत्तर:- बेलोचदार.

See Also:- मांग का सिधांत | Theory of Demand

क्यू. माँग की कीमत लोच को मापने का सूत्र क्या है?

उत्तर:- Ed=(-) Delta Q/Delta P * P/Q

See Also:- Consumer’s Equilibrium Class 12th Economics Chapter 3

क्यू. माँग की लोच जानने के लिए बिन्दु विधि बताओ?

उत्तर:- Ed= मांग वक्र का निचला भाग / माँग वक्र का उपरी भाग

बिन्दु विधि द्वारा माँग की लोच माँग वक्र पर विशेष विन्दु के सदर्भ में निर्धारित की जाती है.

See Also:- Economics- An Introduction

क्यू. पूर्णतया लोचदार माँग वक्र OX-अक्ष के समान्तर क्यों होता है?

उत्तर:- पूर्णतया लोचदार माँग वक्र OX-अक्ष के समांतर इस कारण से होता है क्योंकि कीमत में जरा से परिवर्तन से माँग में अनन्त परिवर्तन हो जाता है.

क्यू. एक सीधी खड़ी रेखा जिससे मांग बक्र से कीमत लोच का क्या संबंध होता है?

उत्तर:- जब माँग वक्र एक सीधी खड़ी रेखा हो तो कीमत लोच शून्य (Ed=0) हो जाता है.

Economics QuestionsCLICK HERE
STATE WISE GK BOOKSCLICK HERE
FOLLOW US ON GOOGLE NEWSCLICK HERE
FOLLWO OUR FACEBOOK PAGECLICK HERE
DOWNLOAD OUR APPCLICK HERE
JOIN OUR WHATSAPP GROUPCLICK HERE
JOIN OUR TELEGRAM GROUPCLICK HERE

Leave a Reply

%d bloggers like this: